Official ICC App

Your App for international cricket. The official ICC app provides coverage across all of the current international action including fixtures, results, videos, ICC news, rankings and more. Don’t miss a moment and keep up with the latest from around the world of cricket!

Ireland

रिपोर्ट कार्ड: आयरलैंड

डब्लूटी-20 रिपोर्ट कार्ड

आस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, भारत और न्यूजीलैंड से हारने के बाद आयरलैंड ग्रुप बी सबसे आखिरी रहा है. आयरलैंड के लिए यह टूर्नामेंट मौका गंवाने जैसा रहा.



रिजल्ट समरी

  • बांग्लादेश के अलावा आयरलैंड ने  आईसीसी वूमेंस वर्ल्ड टी-20  के लिए क्वालीफाई मुकाबलों में खेलने के बाद इस टूर्नामेंट में जगह बनाई थी. 20 ओवर में छह विकेट पर 93 रन पर सिमट जाने के कारण आयरलैंड को आस्ट्रेलिया के खिलाफ नौ विकेट की बड़ी हार झेलनी पड़ी. इसमें किम ग्राथ ने 24 रन बनाए थे.
  • अगले मैच में यह टीम पाकिस्तान के सामने थी जिसके बारे में कहा जा रहा था कि यह टीम आईसीसी वूमेंस वर्ल्ड टी-20 2018 में उलटफेर करने में सक्षम है. लेकिन आयरलैंड टीम के सदस्य मैच में 38 रन की हार के बाद आंखों में आंसू लिए मैदान से निकलीं.
  • लूसी ओ रियाली के 19 रन पर तीन विकेट के कारण आयरलैंड ने पाकिस्तान को छह विकेट पर 136 रन पर ही सीमित कर दिया था लेकिन खुद इस स्कोर को छू पाने में भी नाकाम रही. हालांकि टीम पहली बार सौ रन का आंकड़ा पार करने में सफल रही.
  • भारत के खिलाफ ग्राथ ने गेंदबाजी से मोर्चा संभाला और 22 रन देकर दो विकेट लिए लेकिन इस बार भी आयरलैंड 146 रनों का पीछा करने में नाकाम रही और मैच 53 रन से गंवा दिया. अपने आखिरी मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ नौ विकेट पर 79 रन ही बना सकी जो 7.3 ओवर में ही बना लिए गए. सौफी ब्लेजिंग ने 21 गेंद पर पचास रन ठोक दिए.

साकारात्मक पहलू

युवा किम ग्राथ और लूसी ओ रियाली ने दिखाया कि वह गेंदबाजी से टीम के लिए बड़ा सहयोग कर सकती हैं और आयरलैंड भी इन दोनों को ठीक से तैयार करके अपने क्रिकेट को बेहतर करने में इस्तेमाल कर सकता है. ग्राथ ने तीन और रियाली ने चार विकेट लिए और दोनों ने ज्यादा रऩ खर्च नहीं किए. बल्बेबाजी में  गेबी लूइस पहले तीन मैचों में ज्यादा नहीं कर पाईं लेकिन आखिरी मैच में उन्होंने 36 गेंदों पर 39 रन ठोंक डाले.

सुधार की गुजाईश

आयरलैंड के अपने खेल के हर पहलू में सुधार की जरुरत है. उसकी गेंदबाजी अच्छी दिखी लेकिन बल्लेबाज के आक्रामक होने की स्थिति में वह दवाब में आ जाती है. इस टीम का दवाब के क्षणों में खुद को संभाल कर रखना सीखना होगा.

इस टूर्नामेंट के बाद इसोबेल जॉयस, सिसिलिया जॉयस, क्लार शिलिंग्टन औकर कायरा मेटकाल्फ खेल को अलविदा कह रही हैं. अब टीम की कमान युवा पीढ़ी के हाथ में आनी है. लूईस डेनले, ग्राथ और रियाली को अपने कंधे पर और ज्यादा जिम्मेदारी लेनी होगी. आयरलैंड के पास काफी प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं लेकिन उन्हें अपना हुनर और निखारना होगा.

प्रभावित करने वाला चेहरा

22 साल की ग्राथ ने न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी मैच को छोड़कर सभी मैचों में अपना अहम योदगान दिया. आस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने 24 रन बनाए जिसकी बदौलत टीम एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंची. आस्ट्रेलिया का एकमात्र विकेट भी उनके नाम रहा. पाकिस्तान से खिलाफ ग्राथ ने ओ रियाली के साथ मिलकर उन्होंने किफायती गेंदबाजी की और चार ओवरों में सिर्फ 25 रन ही दिए. भारत के हुए मुकाबले में मिथाली राज और समृति मंधाना के बड़े विकेट भी उन्होंने हासिल किए. इस युवा में प्रतिभा दिखती है.